Blog

એક નવી શરૂઆત

એમને ક્યાં યાદ હતું અમારું મળવું? આ તો કોઈએ વાત વાતમાં મારું નામ લીધું, અને એમને થયું, લાવો યાદ કરી લઈએ. એ તો કહેતા હતા તમને કદી ભૂલી નહીં શકું. ન જાણે ક્યારે આખે આખી સ્લેટ ભૂસાઈ ગઈ, ખબર જ ના પડી. મને કહેતા, તમારા વગર નહિ જીવી શકું, જીવીશું પણ સાથે ને મરીશું પણ … Continue reading એક નવી શરૂઆત

Advertisements

दिन ढले

दिन ढले तेरी याद सताए कैसे कहे हमें चैन न आए दिल पे तू दस्तक दे जाए हाल मेरा अब कैसे बतलाए रूठी हुई यह ज़िंदगानी लागे अब कहीं मेरा जी ना लागे ख्वाहिशों के पर क्यों है लागे तेरी ही आस इस दिल में जागे बेबस है हम इस वक़्त के मारे अपना दिल … Continue reading दिन ढले

मैं हूँ तेरा आशिक

एक मैं हूँ तेरा आशिक और तू है मेरी मलिका दिल में मेरे क्या है न जाने तू मेरी जाने जां होठों पे चाहे ना हो पर दिल में तेरे हाँ है न जाने कब तू कहेगी तुमको भी मुजसे प्यार है एक पल जो ना तुम्हें देखें जिया हो जाए बेक़रार वे तेरी याद … Continue reading मैं हूँ तेरा आशिक

जी ले ज़िन्दगानी

यह रुत है बड़ी मस्तानी आ चल खुल के जी ले ज़िन्दगानी यहाँ कोई हमसफ़र चाहिए मुस्कुराने की वजह चाहिए कातिलाना सही बेज़ार सही कोई दिलबर ए जाँ निसार चाहिए यह रुत है बड़ी मस्तानी आ चल खुल के जी ले ज़िन्दगानी जी भर के उनसे मुहब्बत कर लेंगे दिल में बस उनकी ही तस्वीर … Continue reading जी ले ज़िन्दगानी

इश्क की डोर

कैसे ये इश्क की डोर मेरे गले का फंदा बन गई कैसे ये तेरी मुस्कुराहट सिने की चुभन बन गई बिन तेरे सूनी थी जीवन की डगर न था पहले कोई मेरा हमसफ़र     तेरे आने से दिल को राहत मिली जीने की मुज में कुछ आस जगी ना था मैं तुजसे बेवफ़ा, ना मैं खुदसे … Continue reading इश्क की डोर

मोरा पिया मोसे रूठो ना

मोरा जिया तुम बिन कैसन लागो रे मोरा जिया तुज बिन तडपे पिया रे मोरा पिया मोसे रूठो ना मोरा जिया तुम बिन लागे ना सुद्बुध खोयो चैन गवायो बात ये  मोरी माने ना मोरा पिया मोसे रूठोना मोरा जिया तुम बिन लागे ना नैनन मोरे आस लगावे पिया मिलन की प्यास जगाए  मोरा पिया … Continue reading मोरा पिया मोसे रूठो ना

नीले आकाश में

बने हम एकदूजे के लिए, रहे एक दूजे संग कहे ना हम भी किसीसे, कितना चाहे हम मेरे आगे आगे तू, तेरे पीछे पीछे मैं तोड़ के सारी ज़ंजीरे, आ उड़ चले हम नीले आकाश में, एकदूजे के संग भर दे खुशियों के रंग, जब हमतुम संग-संग न रहे कोई फिकर, जब हो हमतुम एकरंग … Continue reading नीले आकाश में

बिन तेरे कटे ना ये रतियाँ

तू  मुजसे  मिले  यूँ  मिलता  रहे दिल  तुजसे  कहे  यूँ कहता रहे तू  जो मिला जहाँ की सारी खुशियाँ मिली बिन तेरे कटे ना अब ये तन्हाई  पिया आँसू मेरे कहे  की अब तू न जा बिन तेरे कटे ना अब ये रतियाँ                                                  मैं  हूँ तेरी  कहे ये  मेरे नैननवा तू  है  मेरा  कहे ये … Continue reading बिन तेरे कटे ना ये रतियाँ

न कसूर उनका

न कसूर उनका, न था मेरा फिर  खता किस  से हुई ? हुए लापता उनके लबों पे अलफाज़ बेजुबां  हम  भी  थे अबतलक बेपनाह मोहब्बत हम करते थे उनसे दामन में खुशियाँ भी लुटाते थे उनके वक्त ने ये कैसी सज़ा दी हमको होके भी उनके हो सके न कभी वो न थे बेवफ़ा, यारों … Continue reading न कसूर उनका